Scrap Dominion Status



मुजहना MUJAHANA weekly

77, Khera Khurd, Delhi-110082 (BHARAT)

R.N.I. REGISTRATION No.68496/97

Price this issue: Rs. 2/- Yearly Rs. 100/-. Life member Rs. 1000/-.

 


Mujahana• Bilingual-Weekly• Volume 19 Year 19 ISSUE 05B, Jan. 24- Jan. 30, 2014. This issue is Muj14W05B Scrap Dominion Status


Published every Thursday for Manav Raksha Sangh, Registered Trust No 35091 by Ayodhya Prasad Tripathi, at 77, Khera Khurd, Delhi – 110082. ``Phone +91-9868324025.; +(91) 9152579041 . Printed by Ayodhya Prasad Tripathi at 77 Khera Khurd, Delhi-110082. Editor: Ayodhya Prasad Tripathi. Processed on Desk Top Publishing & CYCLOSTYLED by Ayodhya Prasad Tripathi.  Email: aryavrt39@gmail.com; Web site: http://aaryavrt.blogspot.com and http://www.aryavrt.com



Scrap Dominion Status


ब्रिटिश उपनिवेश के दास महामहिम प्रणब दा को सादर प्रणाम!

मैं, अयोध्या प्रसाद त्रिपाठी, आर्यावर्त सरकार का सूचना सचिव हूँ| आर्यावर्त सरकार की कोई प्रजा नहीं है और ब्रिटिश उपनिवेश के मात्र १५०० वर्ग गज की सीमाओं में सीमित है, जिसे छीनने के लिए सोनिया प्रयासरत है| आर्यावर्त सरकार के पास मात्र धर्म है, जो संसार में आज किसी के पास नहीं है| बिना शक्ति के धर्म की रक्षा नहीं हो सकती और बिना वीर्य के शक्ति नहीं मिल सकती| वीर्यरक्षा मात्र गुरुकुलों में ही सम्भव है|

इंडिया आज भी ब्रिटिश उपनिवेश है| साध्वी प्रज्ञा, आप की सरकार ने जिनकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी है, जो कैंसर से पीड़ित हैं और जो २००८ से बिना किसी आरोप के जेल में बंद हैं, ने स्वतंत्रता के उस युद्ध को प्रारम्भ कर दिया है, जिसे १५ अगस्त, १९४७ से छल से रोका गया है| {भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम, १९४७, अनुच्छेद ६ (ब)(।।) भारतीय संविधान व राष्ट्कुल की सदस्यता}. हम पर आरोप है कि हमने मस्जिदों में बम विष्फोट कराए हैं|

मैं आप की सरकार से जानना चाहता हूँ कि १५ अगस्त, १९४७ से आज तक भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम, १९४७ से मुक्ति का प्रयास क्यों नहीं किया गया? आज भी इंडिया ब्रिटिश उपनिवेश क्यों है? इंडिया को गणतन्त्र कहने का आप की सरकार के पास क्या आधार है? आप की सरकार प्रतिवर्ष २६ जनवरी को गणतंत्र दिवस की नौटंकी क्यों करती है?

मस्जिदों से ईमाम प्रतिदिन ५ समय ईशनिंदा करता है और मुसलमानों को काफिरों के हत्या की शिक्षा देता है| ईशनिंदा और कत्ल करने की शिक्षा को रोकने के स्थान पर आप की सरकार उनको पुलिस सुरक्षा देती है, भारतीय संविधान के अनुच्छेद २७ का उल्लंघन कर हज अनुदान देती है और काफिरों के कर के पैसे से वेतन भी देती है| वह ही सर्वोच्च न्यायालय के आदेश से| (एआईआर, एससी, १९९३, प० २०८६) व (प्रफुल्ल गोरोडिया बनाम संघ सरकार, http://indiankanoon.org/doc/709044/). यानी मानवता को मिटाने के लिए अज़ान, धर्मान्तरण, मस्जिद और चर्च संघ सरकार द्वारा प्रायोजित व संरक्षित है| अब तो आप की सरकार साम्प्रदायिक और लक्षित हिंसा अधिनियम, २०११ ला रही है| भारतीय दंड संहिता की धारा १०२ काफिरों को प्राइवेट प्रतिरक्षा का कानूनी अधिकार देती है| अतः आप की सरकार बताए कि हमारे कानूनी अधिकार क्यों छीने गए हैं?

ईसाइयत व इस्लाम मिशन व जिहाद की हठधर्मिता के बल पर वैदिक संस्कृति को मिटा रहे हैं| वे हठधर्मी सिद्धांत हैं, "परन्तु मेरे उन शत्रुओं को जो नहीं चाहते कि मै उन पर राज्य करूं, यहाँ लाओ और मेरे सामने घात करो|" (बाइबल, लूका १९:२७) और "और तुम उनसे (काफिरों से) लड़ो यहाँ तक कि फितना (अल्लाह के अतिरिक्त अन्य देवता की उपासना) बाकी न रहे और दीन (मजहब) पूरा का पूरा (यानी सारी दुनियां में) अल्लाह के लिए हो जाये|" (कुरान, सूरह  अल अनफाल ८:३९).

ईसाइयत और इस्लाम को भारतीय संविधान के अनुच्छेद २९(१) द्वारा उपरोक्त संस्कृतियों को बनाये रखने का असीमित मौलिक अधिकार क्यों दिया गया है? आप की सरकार कर यानी टैक्स हमारे जान-माल के रक्षा के लिये लेती है? ईसाइयत और इस्लाम से हमारे सम्पत्ति और जीवन की रक्षा का आप के पास कौन सा कानून है?

अनुच्छेद ३१ से प्राप्त सम्पत्ति के जिस मौलिक अधिकार को अँगरेज़ और संविधान सभा के लोग न छीन पाए, उसे भ्रष्ट सांसदों और जजों ने मिल कर आप से लूट लिया और अब तो इस अनुच्छेद को भारतीय संविधान से ही २०-६-१९७९ से मिटा दिया गया है| (ए आई आर १९५१ एस सी ४५८).

ईस्ट इंडिया कम्पनी के जमाने में केवल संतानहीनों की सम्पत्ति राजवाह (escheat} होती थी| गाँधी के रोम राज्य में किसी के पास सम्पत्ति का अधिकार ही नहीं| भारतीय संविधान के अनुच्छेद ३९() की शर्त है,

"३९()- आर्थिक व्यवस्था इस प्रकार चले कि जिससे धन उत्पादन के साधनों का सर्वसाधारण के लिए अहितकारी संकेंद्रण हो;" भारतीय संविधान के नीति निदेशक तत्व| अनुच्छेद ३९()

समाजवाद को त्याग कर सरकार बाजारू आर्थिक नीति पर उतर आई है| भारतीय संविधान के अनुच्छेद ३९(ग) को निरस्त करने के लिए आप की सरकार कब कार्यवाही करेगी?

दास बनाने वाले मैकाले के महंगे यौनशिक्षा के स्कूल और बलात्कार के शिक्षा केंद्र मकतब को समाप्त कर ब्रह्मज्ञान और वीर्यरक्षा की निःशुल्क शिक्षा देनेवाले गुरुकुलों को, जिसे मैकाले ने मिटा दिया, आप की सरकार कब पुनर्स्थापित करेगी?

अयोध्या प्रसाद त्रिपाठी, फोन ९१५२५७९०४१

Your Registration Number is : DARPG/E/2014/00514

२६ जनवरी. २०१४

===+++

ĉ
AyodhyaP Tripathi,
Jan 25, 2014, 4:21 PM
Ċ
AyodhyaP Tripathi,
Jan 25, 2014, 4:21 PM
Comments