RadheMa Utpiidan

जूना अखाड़े वालों! होश में आओ!!

क्या राधे माँ ने अपने बाप या स्वसुर से विवाह किया है? क्या राधे माँ ने ऐसी घोषणा की है कि हर मुसलमान व ईसाई नारी के साथ हिंदुओं का सहवास निंदनीय नहीं है? यदि  राधे माँ ने उपरोक्त अपराध किये हों तो मैं संतों के साथ मिलकर राधे माँ का पहला विरोधी बनूंगा| अन्यथा संत मेरा साथ दें, मैं ईसाइयत और इस्लाम को भारत में नहीं रहने दूंगा|

क्या राधे माँ कहती हैं कि यदि आप उनके ईश्वर की पूजा नहीं करते तो वे आप को कत्ल कर देंगी? आप के मठ लूट लेंगी| आप के मंदिर तोड़ देंगी?

संतों! आप लोगों को क्या हो गया है? अपने ही समाज की एक अबला के पीछे लट्ठ ले कर पिल पड़े हैं और अपने भयानक शत्रुओं, चर्चों, मस्जिदों, पादरियों, ईमामों, मौलवियों और शासकों के विरुद्ध बोलने में आप को सांप सूंघ जाता है|

मैं संत समुदाय से हाथ जोड़ कर विनती करता हूँ कि आप लोग वैदिक सनातन धर्म और मानव जाति के शत्रु ईसाइयत और इस्लाम को कम से कम उत्तराखण्ड से बाहर करने में आर्यावर्त सरकार का सहयोग करें| अन्यथा राम और रहीम – कृष्ण और करीम का एका पाकिस्तान में सम्भव न हुआ| जिन्होंने पाकिस्तान से हिंदुओं को ठोकरें मार कर भगा दिया| उनकी नारियों को नंगा करके जुलूस निकाला| नारियों को पशुओं की भांति बाजारों में बेचा| नारियों का बलात्कार किया| हिंदुओं के खेत, घर व पैत्रिक सम्पत्तियां लूट लीं| हिंदुओं को जान बचा कर भागने को विवश किया| आप उनका गुणगान करने के लिए विवश हैंहमारे साध्वी प्रज्ञा जी ने विरोध किया और ४ वर्षों से बिना प्रमाण जेल में सड़ रही हैं| उनकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गई है| बेचारा जज कुछ नहीं कर सका! 

मुंबई एटीएस वालों ने हमारे आधुनिक दुर्गा साध्वी प्रज्ञा को नंगा किया. उनकी रीढ़ की हड्डी तोड़ दी. हमारे सेनापति पुरोहित का पैर तोड़ दिया. हमारे जगतगुरु स्वामी अमृतानंद देवतीर्थ के मुहं में गोमांस ठूसने वालों, हेमंत करकरे अन्य १७ को, योगगुरू रामदेव ने शहीद घोषित किया और ९० लाख रूपये इनाम भी दिए. अब योगगुरु रामदेव मानवता के हत्यारे मुसलमानों से मिल कर आप लोगों की हत्या करना वैदिक सनातन धर्म मिटाना चाहते हैं| कुटरचित परभक्षी भारतीय संविधान के अनुच्छेद ३९() दंड प्रक्रिया संहिता की धारा १९७ को बचाने के लिए ड्रामा कर रहे हैं.

http://www.thaindian.com/newsportal/world-news/kin-of-martyrs-of-mumbai-attacks-honoured-in-capital_100131300.html

http://www.aryavrt.com/Home/1-wary-of-yogguru-2

http://www.vijayvaani.com/FrmPublicDisplayArticle.aspx?id=941

http://www.aryavrt.com/Home/yogguru-supports-fatwa-on-vandemataram

http://articles.timesofindia.indiatimes.com/2012-05-13/india/31689005_1_hindu-dalits-muslim-dalits-quota-benefits

जब कि योगगुरु रामदेव को भलीभांति ज्ञात है कि उन्हें पंतजलि योगपीठ रखने का ईसाइयत और इस्लाम अधिकार नहीं देते| [(बाइबलव्यवस्था विवरण १२:१-३) व (कुरान, बनी इस्राएल १७:८१ व कुरानसूरह अल-अम्बिया २१:५८)] और न योगगुरु को ईसाइयत और इस्लाम के हठधर्मिता के अनुसार जीवित रहने का ही अधिकार है| [बाइबल, लूका, १९:२७ और कुरान २:१९१, भारतीय संविधान का अनुच्छेद २९(१) के साथ पठित|]

आप के प्रदेश में नमाज़ द्वारा आप के ईश्वर का अपमान करने वाला और आप की हत्या करने वाला व आप के पूजा स्थल तोड़ने वाला आतंकवादी अज़ीज़ राज्यपाल बन कर बैठा है| आज तक आप ने विरोध नहीं किया| काबा आप का ज्योतिर्लिंग है| आप काबा की मांग नहीं करते| मस्जिद से ईमाम आप के ईश्वर का अपमान करता है और खुत्बे देता है, आज तक आप ने विरोध नहीं किया!

मस्जिदों से ईमामों के खुतबों को ध्यानपूर्वक सुनिए.

ईमामों को कुरान के आदेशों को तोड़ मरोड़ कर पेश करने की भी आवश्यकता नहीं. भारतीय संविधान के अनुच्छेद २७ का उल्लंघन कर आप के कर से प्राप्त १० अरब रुपयों में से वेतन लेकर ईमाम बदले में कुरान के सूरह अनफाल (८) की सभी मुसलमानों को सीधी शिक्षा देते हैं. (एआईआर, एससी, १९९३, प० २०८६). अजान द्वारा ईमाम स्पष्ट रूप से गैर-मुसलमानों को चेतावनी देते हैं कि मात्र अल्लाह की पूजा हो सकती है. अल्लाह के आदेश से ईमाम कहता है, "काफ़िर मुसलमानों के खुले दुश्मन हैं." (कुरान ४:१०१). कुछ खुतबे कुरान के सूरह अनफाल (८) में स्पष्ट दिए गए हैं. अल्लाह निश्चय रूप से कहता है कि उसने मुसलमानों को जिहाद के लिए पैदा किया है, "युद्ध (जिहाद) में लूटा हुआ माल, जिसमे नारियां भी शामिल हैं, अल्लाह और मुहम्मद का है." (कुरान ८:१, ४१ व ६९). "जान लो जो भी माल लूट कर लाओ, उसका ८०% लूटने वाले का है. शेष २०% अल्लाह, मुहम्मद, ईमाम, खलीफा, मौलवी, राहगीर, यतीम, फकीर, जरूरतमंद आदि का है." (कुरआन ८:४१). लूट ही अल्लाह यानी सत्य है. लूट में विश्वास करने वाले विश्वासी हैं. "गैर-मुसलमानों के गले काटो, उनके हर जोड़ पर वार करो और उनको असहाय कर दो. क्यों कि वे अल्लाह के विरोधी हैं," (कुरआन ८:१२). "जो भी अल्लाह और मुहम्मद के आदेशों का उल्लंघन करता है, वह जान ले कि अल्लाह बदला लेने में अत्यंत कठोर है." (कुरआन ८:१३). "काफ़िर के लिए आग का दंड है." (कुरआन ८:१४). "जब काफिरों से लड़ो तो पीठ न दिखाओ|" (कुरआन ८:१५). "तुमने नहीं कत्ल किया, बल्कि अल्लाह ने कत्ल किया." (कुरआन ८:१७). "मुसलमानों को लड़ाई पर उभारो." (कुरआन ८:६५). तब तक बंधक न बनाओ, जब तक कि धरती पर खून खराबा न कर लो. (कुरआन ८:६७). जो भी लूट का माल तुमने (मुसलमानों ने) प्राप्त किया है, उसे परम पवित्र मान कर खाओ. (कुरआन ८:६९). सत्य स्पष्ट है. काफिरों को आतंकित करने व समाप्त करने के लिए मुसलमानों में जोश पैदा करते हुए अल्लाह कहता है, “जब तुम काफिरों से लड़ो, तो उनको इस तरह परास्त करो कि आने वाले समय में उन्हें चेतावनी मिले. काफ़िर यह जान लें कि वे बच नहीं सकते. (कुरआन ८:६०). जो मुसलमान नहीं वह काफ़िर है| कत्ल से कुफ्र बुरा है (कुरान २:१९१). इस्लाम है तो काफ़िर कि मौत पक्की|

आप लोगों ने आज तक अजान और मस्जिदों का विरोध नहीं किया!

राधे माँ से आप के जूना अखाड़े को कोई भय नहीं है, लेकिन यदि इस्लाम और मस्जिद रहेगा तो आप लोग, आप के मठ-मंदिर और वैदिक सनातन धर्म नहीं बचेंगे| वह भी भारतीय संविधान के अनुच्छेद २९(१) से प्राप्त मुसलमानों के अधिकार से|

Kautumbik Vyabhichar

आर्यावर्त सरकार राधे माँ के विरोधियों से जानना चाहती है कि बेटी (बाइबल १, कोरिन्थिंस ७:३६) से विवाह व पुत्रवधू (कुरान, ३३:३७-३८) से निकाह कराने वाले ईसाइयत और इस्लाम के विरुद्ध विरोधी क्या रणनीति अपना रहे हैं? सरकार क्या कार्यवाही करेगी? क्या मीडिया के पास इस सत्य को प्रकाशित करने का साहस है? जूना अखाड़े ने आज तक क्यों नहीं जानना चाहा?

 “16) उनकी आँखों के सामने ही उनके बच्चों को टुकड़े-टुकड़े कर दिया जायेगा। उनके घर लूटे जायेंगे और उनकी पत्नियों के साथ बलात्कार किया जायेगा।

 बाइबल के इसायाह का ग्रन्थ : अध्याय 13 नियम १६

 देखें नीचे उद्धृत लिंक पर:-

 http://www.biblemitr.com/bible.php?BookType=OLD&BookID=29&Chapter=13

 “यदि कोई सोचता है कि वह अपनी युवा हो चुकी कुंवारी बेटी (प्रिया) के प्रति उचित नहीं कर रहा है और यदि उसकी कामभावना तीव्र है, तथा दोनों को ही आगे बढ़ कर विवाह कर लेने की आवश्यकता है, तो जैसा वह चाहता है, उसे आगे बढ़ कर वैसा कर लेना चाहिए. वह पाप नहीं कर रहा है. उन्हें विवाह कर लेना चाहिए. (बाइबल, १ कोरिन्थिंस ७:३६)

 देखें नीचे उद्धृत लिंक पर:-

 http://www.christiancourier.com/articles/950-does-the-bible-conflict-with-itself-in-the-matter-of-incest

 http://bhaandafodu.blogspot.in/2012_01_01_archive.html

 "अपनी पत्नियों के साथ (और) जो औरतें तुम्हारे कब्जे में हों; उनके साथ सहवास करने में कोई निंदनीय काम नहीं है "सूरा -मआरिज 70:30

 अल्लाह ने मुहम्मद के बेटे जैद  की पत्नी से मुहम्मद का निकाह कराया.

 “३७. याद करो (ऐ नबी), जबकि तुम उस व्यक्ति से कह रहे थे जिस पर अल्लाह ने अनुकम्पा की, और तुमने भी जिस पर अनुकम्पा की कि, ‘अपनी पत्नी को अपने पास रोके रखो और अल्लाह का डर रखो, और तुम अपने जी में उस बात को छिपा रहे हो जिसको अल्लाह प्रगट करने वाला है.  तुम लोगों से डरते हो, जबकि अल्लाह इसका ज्यादा हक रखता है कि तुम उससे डरो.अतः जब जैद उससे अपनी जरूरत पूरी कर चुका तो हमने उसका (जैनब का) तुमसे निकाह कर दिया, ताकि इमानवालों पर अपने मुंह बोले बेटों की पत्नियों के मामले में कोई तंगी न रहे जबकि वे उनसे अपनी जरूरत पूरी कर लें. अल्लाह का फैसला तो पूरा हो कर ही रहता है. (कुरान सूरा ३३, अल-अहजाब आयत ३७)

 “३८. नबी पर उस काम में कोई तंगी नहीं जो अल्लाह ने उसके लिए ठहराया हो. यही अल्लाह का दस्तूर उन लोगों के बारे में भी रहा है जो पहले गुजर चुके हैं-और  अल्लाह का काम तो जंचा-तुला होता है.” (कुरान सूरा ३३, अल-अहजाब आयत ३८)

 जहां सती अपराधिनी है, वहीँ बार बालाएँ और कॉल बालाएं सम्माननीय|

 मैं नीचे राम चरित मानस की पंक्तियाँ उद्धृत कर रहा हूँ,

 “अनुज बधू भगिनी सुत नारी| सुनु सठ कन्या सम ए चारी|

 “इन्हहिं कुदृष्टि बिलोकइ जोई| ताहि बधें कछु पाप न होई||”

 राम चरित मानस, किष्किन्धाकाण्ड; ;

 अर्थ: [श्री रामजी ने कहा] हे मूर्ख! सुन, छोटे भाई की स्त्री, बहिन, पुत्रवधू और कन्या ए चारों समान हैं| इनको जो कोई बुरी दृष्टि से देखता है, उसे मारने में कुछ भी पाप नहीं होता|

 अतएव आर्यावर्त सरकार को मुसलमानों का वध करने का धार्मिक अधिकार है|

संतों! आप और आप के मठ, मंदिर और अखाड़े नहीं रहेंगे!

भारतीय संविधान के अनुच्छेद २९(१) ने उपासना स्थल तोडना हर ईसाई मुसलमान का संवैधानिक असीमित मौलिक अधिकार घोषित कर रखा है| (बाइबल, व्यवस्था विवरण १२:-) (कुरान, बनी इस्राएल १७:८१ व कुरान, सूरह अल-अम्बिया २१:५८). सरकार ने आप के पूजा स्थल तोड़ने और अजान द्वारा आप की आस्था का अपमान करने वालों को अल्पसंख्यक आयोग, मुस्लिम निजी कानून और दंड प्रक्रिया संहिता की धारा १९६ के अधीन संरक्षण प्रदान कर रखा है|

सर्वोच्च न्यायालय अपने शपथ से बंधी है| ईसाइयों और मुसलमानों के विरुद्ध अभियोग नहीं चला सकती है| इसके कारण नागरिकों के जीवन को खतरा है|

पूरा विवरण हमारी निम्नलिखित वेबसाइट पर पढ़ें,

http://www.aryavrt.com/fatwa

धरती पर ईसाइयत और इस्लाम के रहने से वैदिक सनातन धर्म व आप के जीवन को खतरा है| क्यों कि भारतीय संविधान वैदिक सनातन धर्म को मिटाने का एक फंदा (बूबी ट्रैप Booby trap) है| अतः आर्यावर्त सरकार के पास भारतीय दंड संहिता की धारा ९७, १०२ व १०५ के अधीन प्राइवेट प्रतिरक्षा का अधिकार है| आप सहयोग दें तो आर्यावर्त सरकार ईसाइयत व इस्लाम और ईसाई व मुसलमान इंडिया में नहीं रहने देगी| अपने धर्म का पालन करते हुए हम ईसाइयत और इस्लाम को नष्ट कर रहे हैं| हमने बाबरी ढांचा गिरवाया है| हम मस्जिदों में बम विष्फोट कर रहे हैं| हमारे ९ अधिकारी मालेगांव बम विस्फोट में जेलों में बंद हैं| यदि आप चाहते हों कि अमेरिका के लाल भारतीयों और उनके माया संस्कृति की भांति आप की संस्कृति और आप न मिटें तो हमे सहयोग दें| अन्यथा आप को तो मिटना ही मिटना है|

अपना अस्तित्व चाहें तो मुझसे मिलें|

अयोध्या प्रसाद त्रिपाठी (सूचना सचिव) फ़ो (+९१) ९१५२५७९०४१

 

ĉ
AyodhyaP Tripathi,
Aug 8, 2012, 7:26 PM
Ċ
AyodhyaP Tripathi,
Aug 8, 2012, 7:27 PM
Comments