Muj18w26 Aazadi



मुजहना MUJAHANA weekly

77, Khera Khurd, Delhi-110082 (BHARAT)

R.N.I. REGISTRATION No.68496/97

Price this issue: Rs. 2/- Yearly Rs. 100/-. Life member Rs. 1000/-.

 


Mujahana• Bilingual-Weekly• Volume 24 Year 24 ISSUE 26Y, Jul 13-19, 2018. Published every Thursday for Manav Raksha Sangh, Registered Trust No 35091 by Ayodhya Prasad Tripathi, at 77, Khera Khurd, Delhi – 110082. ``Phone +91-9868324025.; +(91) 9152579041 . Printed by Ayodhya Prasad Tripathi at 77 Khera Khurd, Delhi-110082. Editor: Ayodhya Prasad Tripathi. Processed on Desk Top Publishing & CYCLOSTYLED by Ayodhya Prasad Tripathi.  Email: aryavrt39@gmail.com; Web site: http://aaryavrt.blogspot.com and http://www.aryavrt.com Muj18w26 Aazadi  


गणेशायनम 

ह पत्र मम नाइक को भी देने की कृपा करें.

जनसुनवाई •    40018818013973

पत्रांक, 18801y fansijs-gup.   dated, 13.09.2018

प्रेषकः अयोध्या प्रसाद त्रिपाठी, 

आर्यावर्त सरकार (शिविर)

मंगल आश्रम, मुनि की रेती, टिहरी गढ़वाल, ऋषिकेश, 249137, उखं

  फोनः +91 9868324025 - 6397730610

माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी जी,

मैं बाइबिल, कुरान व भारतीय संविधान विरोधी, बाबरी विध्वंसक, काफिर, साध्वी प्रज्ञा व आप का सह अभियुक्त और उपनिवेश विरोधी यानी ब्रिटिश राज्य का शत्रु अयोध्या प्रसाद त्रिपाठी फोन +९१ ९८६८३२४०२५ हूँ. आप ब्रिटिश प्रजा एवं एलिजाबेथ के उपनिवेश के उप्र के लिए प्रतिनिधि हैं.

आप के प्रदेश के पूर्ववर्ती राज्यपाल भादंसं की धारा १२१ के अंतर्गत दंप्रसं की धारा १९६ मे संस्तुति देकर मुझे फांसी दिलवा सकते थे, लेकिन इंडिया उपनिवेश है, इसे लोगों से छिपाने के लिए, मेरी हत्या के लिए गोरखपुर मे नाइक ने भूमाफिया,  दिल्ली मे उप राज्यपाल बैजल ने भूमाफिया और उखं मे राज्यपाल पाउल ने सुपारी किलर बैठाए हुये हैं.

सरकार ने मेरी सारी संपत्तियां लूट ली हैं. हो सकता है कि आप को स्वयं ही न पता हो कि राजीव दीक्षित के भांति, जेल में मुझे भी जहर दिया गया था.

पूर्व राज्यपाल नारायण दत्त तिवारी को अनैतिक यौन संबंधों के कारण राज्यपाल के पद से त्याग पत्र देना पड़ा था. लेकिन भंड़ुए माउंटबेटन ने तथाकथित राष्ट्रपति भवन को वैश्यालय बना दिया, अपनी वाइफ एडविना को वैश्या बना कर संयुक्त रूप से नेहरू और जिन्ना को सौंप दिया. उधर तथाकथित राष्ट्र पिता गांधी के अपने सगी पोती से यौंन संबंध ब्रह्मचर्य के प्रयोग हो गए. सब प्रमाणित तथ्य हैं. इनका महिमामंडन करने के बदले में इंडिया ९९ वर्ष के पट्टे पर नेहरू को १५ अगस्त, १९४७ को दिया गया. हमारी भारत मां आक्रांता ब्रिटेन की हो गई और उसका तथाकथित विवाह गांधी से हो गया.

इंडिया २ स्वतंत्र उपनिवेशों इंडिया और पाकिस्तान मे बंट गया. स्वतंत्र उपनिवेश नहीं हो सकता. क्योंकि स्वतंत्र का अर्थ स्वयं का (मेरा अपना) तंत्र है और उपनिवेश स्वतंत्र नहीं हो सकता क्योंकि उपनिवेश का अर्थ ही किसी और की बस्ती है तो स्वतंत्र उपनिवेश कोई शब्द ही नहीं है, धोखा है। तबसे आज तक कोई विरोधी नहीं पता. राजीव दीक्षित ने सवाल कर दिया. उंहे जहर देकर मार दिया. जेलमे जहर २००१ मे मुझे भी दिया. मैं बच गया.

ईसा की दासता के विरोधी हम सनातनी विप्र तभी से तिल तिल कर नष्ट हो रहे हैं.

उपनिवेश से मुक्ति हेतु मुझे मदद दें

मुझे बताइए कि नारायण दत्त तिवारी गलत हैं तो माउंटबेटन सही कैसे है? सत्ता के हस्तांतरण के इस समझौते से मेरी शत्रुता है. यह समझौता, जैसे हो, रद्द कराने में मेरी सहायता कीजिए. आप, गुप्तचरों से घिरे, आतंक की साया मे पद पर हैं. मेरी केवल गुप्त सहायता कर सकते हैं. यह युद्ध नहीं लड़ सकते. सनातन धर्म बचाने में मेरी सहायता कीजिये.

धोखाधड़ी फिर हुई. मुसलमानों को पाकिस्तान भी मिला और भारत भी. माउंटबेटन ने गुप्त रूप से हथियार देकर ३५ लाख हिंदुओं को कटवाया.

नई धोखाधड़ी शुरू हुई. संविधान का संकलन करके. हमसे पूछा नहीं और हमने संविधान को आत्मार्पित कर लिया.

नफरत की संस्कृतियों के 'मात्र अल्लाह पूज्य है की अज़ान द्वारा घोषणा' और 'केवल यीशु मोक्ष प्रदान कर सकते हैं' की चर्चों से घोषणा पंथनिरपेक्ष पूजा हो गए. आजतक जारी हैं.

 कोई भी कानूनविद बताए कि बपतिस्मा व अजान सर्वधर्म समभाव और सेकुलर कैसे है? विश्व की सबसे बड़ी आबादी ईसाई व मुसलमान अल्पसंख्यक कैसे हैं? कश्मीर, नागालैंड व मिजोरम मे हिंदू अल्पसंख्यक क्यों नहीं घोषित हुआ? हर व्यक्ति अपराधी है. या तो ईसा को राजा नहीं मानता अथवा केवल अल्लाह की पूजा नहीं करता. वह कत्ल कर दिया जाएगा.

भारतीय संविधान के अनुच्छेद २९(१) द्वारा इन खूनियों को अपनी संस्कृति को बनाए रखने का अधिकार क्यों दिया गया है?

क्या आपको नहीं लगता कि आप अपने सर्वनाश के लिए विवश हैं?

आततायी परभक्षी संस्कृतियों को इंडिया से निकालने में मुझे मदद दें. अजान बंद करने में मदद करें.

जैविक खाद्यान्न की विश्व में मांग है. क्या आप बिना गौ और बैल के जैविक खाद्यान्न को पैदा कर सकते हैं? वह भी बिना डीजल और कीटनाशक दवाओं के? गोवंश आधारित खेती देश की ९०% बेरोजगारी समाप्त कर देगी.

कल्पना कीजिये कि कल विश्व भारत पर आर्थिक प्रतिबंध लगा देता है, जिसकी पूरी संभावना है. उस दशा में यदि गाय और बैल हैं तो देश को अन्न की कमी नहीं रहेगी. आप आर्थिक प्रतिबंध झेल लेंगे.

आप गोरक्षपीठाधीश्वर हैं. गौ सनातनियों की पूज्य है. लेकिन आप के प्रदेश में गोरक्षक भगवा आतंकवादी हैं और गोमांस भक्षी महिमामंडित हो रहे हैं. प्रदेश में एलिजाबेथ के सरकारी गौकत्लखाने चल रहे हैं.

संविधान मे आस्था व निष्ठा लेते ही आप विवश हो चुके हैं. आप अपने ही प्रदेश के कैराना मे हिंदुओं को वापस नहीं बसा पा रहे हैं.

मेरे तमाम शिकायतों का उत्तर आप की सरकार दे नहीं पाई है. अब मामला शासन पर टाल दिया गया है. सुपारी किलर के आश्रम में ही हूँ. मेरा गला दबाकर हत्या कर दे, इसके पूर्व सनातन धर्म रक्षार्थ कुछ कर लीजिये.

पूरा चिंतन कर लीजिए. आप मकड़जाल मे फंस चुके हैं. आप ने संविधान में आस्था और निष्ठा की शपथ ली है. आप की छवि खराब हो रही है.

गौहत्या बंद करने में मुझे मदद दें

संवैधानिक स्थिति यह है कि आप के पास संपत्ति रखने का कानूनी अधिकार नहीं है. (संविधान का अनुच्छेद ३९ग). जीवित रहने और गोरखनाथ मंदिर रखने का अधिकार भी नहीं है. चुनाव लडऩे के पूर्व ही आप ने अपने अधिकार गंवा दिए हैं.

संविधान सनातन धर्म का शत्रु है. अंबेडकर इसे जलाना चाहते थे. उनके अधूरे लक्ष्य की पूर्ति मे बामसेफ भी मदद करे.

आशाराम बापू का हाल जान ही रहे हैं. आप गोरक्षपीठ नहीं बचा सकते और न ही जेल जाने से बच पाएंगे.

५ जजों ने सौ करोड़ हिंदुओं को भादंसं की धारा ३७७ को निरस्त कर नपुंसक बना दिया.

संत मंदिर संकट में हैं. इनको बचाने हेतु मदद करें.

सहारा श्री का हाल देख लें. सभी उद्योगपति और व्यापारी जेल जाएंगे. बचना चाहते हों तो मदद करें.

अप्रति

या 13.09.2018

 

 

  

Comments