Muj17W31Y UPNIVESH MITAYEN



मुजहना MUJAHANA weekly

77, Khera Khurd, Delhi-110082 (BHARAT)

R.N.I. REGISTRATION No.68496/97

Price this issue: Rs. 2/- Yearly Rs. 100/-. Life member Rs. 1000/-.

 


Mujahana• Bilingual-Weekly• Volume 22 Year 22 ISSUE 31Y, Aug 04-10, 2017. Published every Thursday for Manav Raksha Sangh, Registered Trust No 35091 by Ayodhya Prasad Tripathi, at 77, Khera Khurd, Delhi – 110082. ``Phone +91-9868324025.; +(91) 9152579041 . Printed by Ayodhya Prasad Tripathi at 77 Khera Khurd, Delhi-110082. Editor: Ayodhya Prasad Tripathi. Processed on Desk Top Publishing & CYCLOSTYLED by Ayodhya Prasad Tripathi.  Email: aryavrt39@gmail.com; Web site: http://aaryavrt.blogspot.com and http://www.aryavrt.com Muj17w31Y Upnivesh MITAYEN

 ||श्री गणेशायेनमः||

दुविधाग्रस्त मैं नहीं एलीज़ाबेथ के उपनिवेश के बलिपशु उपनिवेश वासी हैं।
प्रश्न है कि भारतीय स्वतन्त्रता अधिनियम, १९४७, जिसके अनुसार इंडिया ब्रिटिश उपनिवेश और राष्ट्रकुल का सदस्य बना, स्वतंत्र कैसे है? उपनिवेश का अर्थ स्वतंत्र नहीं होता। जब तक स्वतंत्र के पश्चात का 'उपनिवेश' शब्द अधिनियम से नहीं हटता। कानूनी भाषा मे वह उपनिवेश ही रहेगा। 
या तो उपनिवेश शब्द को निरस्त करने का अधिनियम दिखाइए या इंडिया को उपनिवेश स्वीकार कीजिये।

 उपनिवेश शब्द के निरस्तीकरण के प्रमाणित होने तक कृपया आजादी/स्वतंत्रता को आजाद/स्वतंत्र उपनिवेश ही लिखें। स्वयं मूर्ख न बनें।

फिर भी अगर किसी को लगता है कि मैं लोगों को भड़का रहा हूँ, तो मुझे भारतीय दंड संहिता की धारा १२१ के अंतर्गत राष्ट्रपति या राज्यपाल दंड प्रक्रिया संहिता की धारा १९६ के अधीन फांसी दिलाएँ।

अप्रति

Top of Form

Registration Number is : PMOPG/E/2017/0403736                               

http://www.aryavrt.com/muj17w31y-upnivesh-mitayen




Comments