Muj13W36 Blatkari Sant

बलात्कारी संत?

मैं तथाकथित बलात्कारी आशाराम बापू के विरुद्ध त्वरित कार्यवाही का स्वागत करता हूँ और जानना चाहता हूँ कि ब्रिटिश उपनिवेश इंडिया के प्रथम दास प्रणब दा बेटी (बाइबल १, कोरिन्थिंस ७:३६) से विवाह व पुत्रवधू (कुरान, ३३:३७-३८) से निकाह कराने वाले ईसाइयत और इस्लाम के विरुद्ध क्या कार्यवाही करेंगे? क्या मीडिया के पास इस सत्य को प्रकाशित करने का साहस है? मेरे लिखने पर विश्वास न कीजिए| नीचे दिए संदर्भों को बाइबल, कुरान और संविधान में देखिये|

16) उनकी आँखों के सामने ही उनके बच्चों को टुकड़े-टुकड़े कर दिया जायेगा। उनके घर लूटे जायेंगे और उनकी पत्नियों के साथ बलात्कार किया जायेगा।

बाइबल, इसायाह का ग्रन्थ : अध्याय 13 नियम १६

देखें नीचे उद्धृत लिंक पर:-

http://www.biblemitr.com/bible.php?BookType=OLD&BookID=29&Chapter=13

 “यदि कोई सोचता है कि वह अपनी युवा हो चुकी कुंवारी बेटी (प्रिया) के प्रति उचित नहीं कर रहा है और यदि उसकी कामभावना तीव्र है, तथा दोनों को ही आगे बढ़ कर विवाह कर लेने की आवश्यकता है, तो जैसा वह चाहता है, उसे आगे बढ़ कर वैसा कर लेना चाहिए. वह पाप नहीं कर रहा है. उन्हें विवाह कर लेना चाहिए. (बाइबल, १ कोरिन्थिंस ७:३६)उपरोक्त कथन सोनिया के बाइबल का है| किसकी माँ ने दूध पिलाया है कि प्रकाशित कर दे? उसकी लाश भी न मिलेगी|

देखें नीचे उद्धृत लिंक पर:-

http://www.christiancourier.com/articles/950-does-the-bible-conflict-with-itself-in-the-matter-of-incest

"अपनी पत्नियों के साथ (और) जो औरतें तुम्हारे कब्जे में हों; उनके साथ सहवास करने में कोई निंदनीय काम नहीं है "कुरान, सूरा -मआरिज ७०:३० व २३:६

http://bhaandafodu.blogspot.in/2012_01_01_archive.html

अल्लाह ने मुहम्मद के बेटे जैद  की पत्नी से मुहम्मद का निकाह कराया.

३७. याद करो (ऐ नबी), जबकि तुम उस व्यक्ति से कह रहे थे जिस पर अल्लाह ने अनुकम्पा की, और तुमने भी जिस पर अनुकम्पा की कि, ‘अपनी पत्नी को अपने पास रोके रखो और अल्लाह का डर रखो, और तुम अपने जी में उस बात को छिपा रहे हो जिसको अल्लाह प्रगट करने वाला है.  तुम लोगों से डरते हो, जबकि अल्लाह इसका ज्यादा हक रखता है कि तुम उससे डरो.अतः जब जैद उस (जैनब) से अपनी जरूरत पूरी कर चुका तो हमने उसका (जैनब का) तुमसे निकाह कर दिया, ताकि इमानवालों पर अपने मुंह बोले बेटों की पत्नियों के मामले में कोई तंगी न रहे जबकि वे उनसे अपनी जरूरत पूरी कर लें. अल्लाह का फैसला तो पूरा हो कर ही रहता है. (कुरान सूरा ३३, अल-अहजाब आयत ३७)

३८. नबी पर उस काम में कोई तंगी नहीं जो अल्लाह ने उसके लिए ठहराया हो. यही अल्लाह का दस्तूर उन लोगों के बारे में भी रहा है जो पहले गुजर चुके हैं-और  अल्लाह का काम तो जंचा-तुला होता है.” (कुरान सूरा ३३, अल-अहजाब आयत ३८)

जहां सती अपराधिनी है, वहीँ बार बालाएँ और कॉल बालाएं सम्माननीय|

मैं नीचे राम चरित मानस की पंक्तियाँ उद्धृत कर रहा हूँ,

अनुज बधू भगिनी सुत नारी|

सुनु सठ कन्या सम ए चारी|

इन्हहिं कुदृष्टि बिलोकइ जोई|

ताहि बधे कछु पाप न होई||”

राम चरित मानस, किष्किन्धाकाण्ड; ८:४

अर्थ: [श्री रामजी ने कहा] हे मूर्ख! सुन, छोटे भाई की स्त्री, बहिन, पुत्रवधू और कन्या ए चारों समान हैं| इनको जो कोई बुरी दृष्टि से देखता है, उसे मारने में कुछ भी पाप नहीं होता|

अतएव आर्यावर्त सरकार को मुसलमानों व ईसाइयों का वध करने का धार्मिक अधिकार है|

मानव उन्मूलन की कीमत पर आतंकित और असहाय मीडिया जानबूझकर अनभिज्ञ बनी हुई है| नेताओं, सुधारकों, संतों, मीडिया, इस्लामी मौलवियों, मिशनरी और जजों सहित लोकसेवकों द्वारा जानबूझ कर मानवता को धोखा दिया जा रहा हैं. सच छुपा नहीं है, न ही इसे जानना मुश्किल है| मुसलमानों और ईसाइयों द्वारा तब तक जिहाद और मिशन जारी रहेगा, जब तक हम उनके साधन और प्रेरणा स्रोत को नष्ट न कर दें. उनके साधन पेट्रो डालर और मिशनरी फंड और प्रेरणा स्रोत कुरान (कुरान ८:३९) और बाइबल (बाइबल, लूका १९:२७) है|

खतने पर अपने शोध के पश्चात १८९१ में प्रकाशित अपने ऐतिहासिक पुस्तक में चिकित्सक पीटर चार्ल्स रेमोंदिनो लिखते हैं कि पराजित शत्रु को जीवन भर पुंसत्वहीन कर (अधीन कर) दास के रूप में उपयोग करने के लिए शिश्न के अन्गोच्छेदन या अंडकोष निकाल कर बधिया करने (जैसा कि किसान सांड़ के साथ करता है) से खतना करना कम घातक है| सैतानों मूसा और मुहम्मद ने, किसान के सांड की भांति, यहूदियों व मुसलमानों को दास बनाने के लिए खतना को मजहब से जोड़ दिया है| यहूदी और मुसलमान गाजे बाजे के साथ स्वेच्छा से अपने ब्रह्मतेज को गवां देते हैं और जीवन भर रोगी, अशक्त और दास बन कर जीते हैं|

पूरा विवरण देखें:-

http://en.wikipedia.org/wiki/Peter_Charles_Remondino

सम्पादक


ĉ
AyodhyaP Tripathi,
Sep 5, 2013, 7:55 PM
Ċ
AyodhyaP Tripathi,
Sep 5, 2013, 7:51 PM
Comments