Jail main band sant Asharam Bapu ka Dangal


मुजहना MUJAHANA weekly

77, Khera Khurd, Delhi-110082 (BHARAT)

R.N.I. REGISTRATION No.68496/97

Price this issue: Rs. 2/- Yearly Rs. 100/-. Life member Rs. 1000/-.




Published every Thursday for Manav Raksha Sangh, Registered Trust No 35091 by Ayodhya Prasad Tripathi, at 77, Khera Khurd, Delhi – 110082. ``Phone +91-9868324025.; +(91) 9152579041 . Printed by Ayodhya Prasad Tripathi at 77 Khera Khurd, Delhi-110082. Editor: Ayodhya Prasad Tripathi. Processed on Desk Top Publishing & CYCLOSTYLED by Ayodhya Prasad Tripathi.  Email: aryavrt39@gmail.com; Web site: http://aaryavrt.blogspot.com and http://www.aryavrt.com
जेल में बंद आशाराम बापू
का दंगल

मैंने  हिन्दू  धर्म, हिन्दू देवी देवताओ  के सम्मान की रक्षा  के लिए और आत्मरक्षा के लिए  पुलिस प्रशासन  से प्रार्थना की  लेकिन मुझे ही प्रताड़ित किया I आज भारत  के शिक्षा केन्द्रों  में वेद ,गीता ,रामायण , त्रिकाल  संध्या पर प्रतिबन्ध हैं I  इतिहास को विकृत करके पढाया जा रहा है जब  कि गैर हिन्दू पंथो को  अपने अपने आदर्श ग्रन्थ पढ़ाने के लिए सुविधाए  प्रदान की जा रही हैं l भगवान श्री राम और भगवान श्री कृष्ण  ने धर्म और अधर्म में अंतर सिखाया l भारत  के विश्व प्रसिद्ध  संत आशाराम बापू सम्पूर्ण मानवता के कल्याण के लिए रात - दिन मेहनत कर रहे हे l नीति ,धर्म और मर्यादा की शिक्षा  दे रहे हैं , बाल संस्कार  केंद्र चला रहे हैं,  उंचित - अनुचिंत   खान- पान  की शिक्षा दे रहे हैंI करोडों युवाओं को  ब्रह्मचर्य  की पुस्तके पढ़ाकर  युवा पीढ़ी  को बरबाद होने से बचा रहे हैं,I यह कुछ कट्टर पंथियो  को पसंद नहीं आ रहा हैं  कायर  कट्टर पंथी गुरु और राजनेता मिलकर कई वाद, वादी ,विचारक, प्रचारक पैदा कर के जनता को गुमराह करके संत आशाराम  बापू के विरुद्ध  माहौल  खड़ा  कर  रहे हैं और उपेक्षा कर रहे हैं I ईसायत  यीशु  को , इस्लाम अल्लाह को एकमात्र पूजनीय  और सर्वशक्तिमान  मानते हैं  इस  मान्यता को लेकर युद्ध  मचा  हुआ हैंI

यीशु  गैर ईसाई और अल्लाह के पैग़म्बर गैर मुस्लिम को जीने का अधिकार नहीं देंते , गैर   ईसाई  और गैर मुस्लिमो की संपत्ति  और औरोतों  पर बलात अधिकार करने वालो को सीधे स्वर्ग प्राप्ति का दावा करते हैंI  वैदिक हिन्दू धर्म में ऐसे  नीति  मर्यादाहीन  अधर्मी  सर्वशक्तिमान  कायरो को सीधे नर्क का रास्ता  दिखाने  का आदेश   हैI  इसलिए अधर्मी कायर कट्टर पंथी गीदड  सेक्युलरवाद धर्मनिरपेक्षता  की खाल पहन कर निर्दोष जनता के मांस  पर मौज उड़ा रहे हैंI  भारत का संविधान , न्यायालय  , मानवाधिकार  आयोग  और सयुंक्त राष्ट्र  संघ  ऐसे ही अधर्मी कायर कट्टर पंथी गीदड़ो का सुरक्षित  अधर्मी   राजनीतिक  प्रशासन हैंI संत आशाराम बापू  इसलिए जेल में हैंI   बाबा जय गुरुदेव  , उड़ीशा के  दारा सिंह  और  स्वामी  लक्ष्मणानन्द,कर्नल पुरोहित , साध्वी  प्रज्ञा  ,शंकराचार्य  जयेन्द्र सरस्वती  , स्वामी  नित्या नन्द  ,धनंजय देसाई  ऐसे कई हिन्दू धर्म  के सुभचिन्तक  अधर्मी  प्रशासन की बलि चढ़  गए हैं I लीबिया ,सीरियामिस्र ,ईरान , इराक   की करोड़ो  जनता  सद्दाम हुसैनकर्नल  गद्दाफी समेत  अधर्मी प्रशासन  की बलि  चढ़  गए  हैं और चढ़  रहे हैंI

2300 वर्षो  की सृष्टि  के अनुभवो  को लेकर  ईसाई पोप ,  अल्लाह की 1300 वर्षो  की सृष्टि  से  अधिक  शक्तिशाली और चतुर  सिद्ध  हो रहे हैं I

ईसाई  पोप  का गृह मंत्रालय  संयुक्त  राष्ट्र संघ और स्वतन्त्र प्रभार चौधरी अमेरिका  मानवाधिकार  की पंचायत बैठाकर अनेक देशो में कठ्पुतली सरकार बनाने में होशियार है, असली मुद्दे  छुपाककर जनता को गुमराह करने में होशियार हैंI वैदिक हिन्दू धर्म  के सिद्धान्तों  की उपेक्षा  करके  केवल अधर्म उतपन्न  किया जा सकता हैं  इसके लिए हमारी शास्त्रार्थ  की खुली चुनौती   हैं I 

संयुक्त राष्ट्र संघ  से संचालित वैदिक हिंदू धर्म विमुख ओम् शांति प्रजापिता ब्रह्मराक्षसियों से सावधानकायर दोगले हिन्दूओ से सावधानधर्म विमुख मिडिया के चेलो से सावधान !

जन्मों - जन्मों से भटका  जीव  श्रद्धा  की एक पतली  डोरी  के सहारे  ईश्वर  तक पहुच सकता है जो मनुष्य  जीवन का एक मात्र लक्ष्य  हैं l इस रास्ते से भटकाना उस मनुष्य की हत्या करने से बड़ा पाप हैI

गाँधी की रंगरलियाँ ब्रह्मचर्य के प्रयोग कैसे हुए ? एडविना सवेरे जिन्ना के साथ हमबिस्तर होती थी, और शाम को नेहरु के साथ, उसका पति लार्ड माउंट बेटन और एडविना अपराधी क्यों नहीं ? एक लड़की जिसके साथ बलात्कार सिद्ध ही नहीं है उसके कहने पर आशाराम बापू जेल मैं क्यों बंद हैं ?


संयुक्तराष्ट्र UNO सहित सभी देशों में  मेरा पत्राचार होता रहता है मैने ३०-४० वर्ष पहले यूरोप एशिया व अरब देशों की यात्राएं की है I AMIE मैकेनिकल इंजिनियरिंग में डिग्री की शिक्षा प्राप्त की  हैं l जर्मनी में बुल्डोजर कंपनी का डिस्ट्रीब्यूटर होने के कारण मुझे देश विदेश की यात्रा करनी पड़ती थी I घटना तब की है जब मेरी भागवत गीता को अरब देश के एक छोटे से पुलिस कस्टम अधिकारी ने तलाशी के दौरान बूटों से रौंदा और कहा, बुजुर्ग हो इसलिये छोड़ दिया दुबारा यदि ऐसी गलती पाई गई तो सर कलम कर दिया जाएगा.I मैने पूछा कारण? तो कहा, “हमारी कुरान में यही लिखा है I” तब मैंने कुरान का अध्ययन किया कि भगवत गीता से इतनी नफरत क्यों? मैंने कुरान बाइबिल पर ४८ मुकदमे जीते हैI मेरे मुकदमो में न्यायाधीशो  की तबियत खराब हो जाती है या छुट्टी पर चले जाते है | मेरे सूत्रों ने मुझे बताया की उनकी औरतें उनके कपडें बदल बदल कर थक गई हैं | धर्मविमुख मीडिया के चेले शेखी बघारने के लिये स्वतंत्र हैं| संत आशाराम बापू जी बड़े दयालू हैं, उन्होंने ऐसे लोगों को भी ५० वर्षों तक सत्संग सुनाया | जिस जेल में मुझे बंद किया गया  उस जेल के जेलर, मुझे  दूसरे  जेल में भेजने  या प्रशासन को इस्तीफा देने की धमकी देने लगे क्योंकि जेल के कैदियों में दंगल होने लगे ,जेल के कैदी भी धर्म के लिए  मर मिटने के लिए  तैयार हो गए I

 संयुक्त राष्ट्र संघ, मानवाधिकार आयोग, न्यायालय  और संविधान उन  दानवी   शक्तियों का पोषक हैं, जो दूसरों को जीवित रहने का अधिकार नहीं देते| | संत आशाराम बापू और  उनके  गुरुकुल वैदिक हिंदूधर्म का प्रचार कर रहें हैं| इनको दानवी  शक्तियाँ और धर्मनिरपेक्ष सेकुलरवादी शक्तियाँ कैसे स्वीकार कर सकती हैं( या सहन कर सकती हैं)? मुझे यदि ब्रह्मचर्य  के महत्व का पहले पता चल जाता, तो  मै  विवाह नहीं करता, मैं अकेला ही इन आसुरी  शक्तियों को भस्म कर देता| भारत का शासन आज भी ईसाई चर्च से ही चल रहा है|नेहरु और जिन्ना चरित्रहीन  एडविना  की अंतरंग सेवा  में तत्पर  थे  यह जानकर लार्डमाउंट बेटन  बहुत खुश था कि  हिन्दूओ का कत्लेआम करके इंडिया और पाकिस्तान दो गुलाम देश बनाने का संविधान  बन चुका  है इसे लागू  करने में  ये दोनों बड़े सहायक होंगे |भारत में स्वामी लक्ष्मणानंद की  हत्या के बाद हमने बाइबिल के आदेशों का खुलासा किया और ईसाई पोप पर मुकदमा चलाने की  मांग की थी| हत्या में शामिल  ईसाई  पोप  वेटिकन  सिटी  और भारत के   चर्च के षड़यंत्र के  सबूत  अखबारों में  प्रकाशित हुए थे  I पुरुलिया में हवाई जहाज से हथियार  गिराने वाले किम डेवी और,पीटर ब्लीच आज ईसाई देशों में मौज मार रहे है |  प्रधानमंत्री  नरसिम्हाराव  के शासन  में ये भारत में गिरफ्तार  किये गए थेI

 ईसाई पोप की सन २०१० से गिरफ़्तारी की मांग हो रही है वे चर्च के अनाथ आश्रम के  २३५ अंधे, बहरे, लूले, लंगड़े, शारीरिक मानसिक अपंग बच्चो का २० वर्षो तक  यौन शोषण करने के मामले में दोषी पाए गये है  |भारत  में ईसाई  संस्थायें   चरित्रहीनता  ,व्याभीचारअपराध के अड्डे  बने  हुए  हैं , हिन्दू  धर्म विऱोधी  गतिविधियों  के केन्द्र  बने हुए  हैंI मीडिया और  राजनेता  इनके  पोषक  हैं l हिन्दुओ  की जेब काटकर ईसाइयो और मुसलमानों को भारत में दोहरी सुविधाए दी जा रही है , संविधान का खुला उलंघन  करके धर्म के आधार पर आरक्षण  दिया जा रहा है | मै  अपने मुजहना  समाचार पत्र में लिखता रहा  हुँ  कि  जेबकतरे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अल्पसंख्यक मंत्रालय खोला, अटल बिहारी बाजपेयी ने भी आयोग को  ख़ूब  बढ़ावा दिया,  अब बॉलीवुड  जोकर पार्टी का डायलॉग  मंत्री इसको  बढ़ावा  दे रहा है इस  अन्याय  के कारण लाखो हिन्दु  आत्महत्या  कर रहे है कोई प्रधानमंत्री  सुननेवाला नहीं है I गृह मंत्री राजनाथ सिंह  कह रहे है कि लव  जिहाद  क्या  है मैं  नहीं जानता I आज भी खुले आम गो मांस खाने की घोषणा हो रही है I प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भाजपा सरकार के राज में गो रक्षको को पीट पीट कर लोक तंत्र की हत्या कर दी गई है I मंदिरों का करोडों अरबो  रूपया  सरकार हड़प रही है चर्च और मस्जिदों के पैसे को छू  भी नहीं सकती I मैने अपने कार्यालय  से ७७ खेडा खुर्द दिल्ली से  १५ पैसे के  रजिस्टर्ड पोस्टकार्ड द्वारा नजदीक थाने में  आत्मरक्षा   हेतु  गुहार लगाई कि  मेरे संवैधानिक अधिकारों की रक्षा की जाए, मेरा धर्म खतरे में है मेरे बिस्तर पर १ किलोमीटर दूर से  लाउडस्पीकर पर अरबी उर्दू में इस धमाके को सुन रहा हूँ कि “एकमात्र अल्लाह ही सर्वशक्तिमान है और एकमात्र अल्लाह ही पूजनीय है I” दिन में ५ बार गैर मुस्लिमों को क़त्ल करने की शपथ की घोषणा हो रही है I

यह हमारे देवी-देवताओं का अपमान है, यह हमारे ईश्वर की निंदा है I मालेगाँव बम ब्लास्ट में मैं वांछित अपराधी हूँ मेरी आर्यावर्त  सरकार  ने खुलेआम घोषणा की है कि एक भी मस्जिद और भी एक मुसलमान इस धरती पर  नहीं रहने नहीं देंगे l

ATS और प्रशासनिक अधिकारियों ने मेरे शपथ पत्र ही चुरा लिये निर्दोष शंकराचार्य स्वामी अमृतानंद देवतीर्थ, साध्वी प्रज्ञा कर्नल पुरोहित और स्वामी असीमानंद जैसे लोगो को ATS प्रताडित कर रही हैI साध्वी प्रज्ञा अपराधी कैसे? आत्मरक्षा अपराध कैसे? मुकदमो से मुझे अनुभव हुआ और दुःख हुआ कि मैंने पहले चर्च में बम ब्लास्ट नहीं किया | जो दूसरों को जीवित रहने का अधिकार नहीं देते, उन्हें जीवित रहने का कोई अधिकार नहीं हैं

भारत के प्रधानमंत्री नरसिम्हाराव ने मुझे मिलने बुलाया  था  एन्ट्री  रजिस्टर में बिना नाम लिखे मुझे मुलाक़ात दी और समझाया मुजहना अखबार बंद कर दो I नेहरु, इन्द्रागांधी, सोनियागांधी के खिलाफ लिखना बंद कर दो I ईसाइयत और इस्लाम के खिलाफ किताबें लिखना बंद कर दो, लाल बत्ती ले लो किसी आयोग का अध्यक्ष बना देगे मोटरगाड़ी,बंगला,रुपया जितना चाहिए ले लो लिखना बंद कर दो  पर मैने शर्त नहीं  मानी I पाकपिता मोहनदास करमचन्द  गाँधी  के विरूद्ध और नाथूराम गोडसे के समर्थन में लिखी  गई  किताबें  बंद करने के लिए कहा गया , मैंने शर्त  नहीं मानी  I मैं पिछले २५ वर्षों से अपने मुजहना अखबार में लिख रहा हूँ , I लिब्राहिम  आयोग में मैने २ शपथ पत्र दिए सरकार ने आयोग पर गरीब जनता के करोडों रूपये बर्बाद किये मेरे शपथ पत्र सरकार ने  चुरा लिये मैने इन शपथ पत्रों में बताया... इन हिजडों से क्या पूछते हो मुझसे पूछो... मैने ७२ लड़के ६ माह में ट्रेनिंग  देकर बाबरी ढाँचा गिराने के लिये तैयार किये , ३४ ढाँचे  तक  पहुँचे बाकी डर के भाग गये, २६ लोगो के नाम अखबार में प्रकाशित  हुए उन्हें  राज्यपालो ने सरकारी नौकरी देकर,पैसा  देकर, परिवार को जान से मारने की धमकी देकर इन सभी २६ लडको को गवाही से बाहर कर दिया I RSS,भाजपा नेताओं ने,विश्व हिंदू परिषद् ने अपनी जान बचाने के लिये भीड़ पर आरोप लगा कर हाथ खड़े कर दिए I मेरे कहने पर एक कार्येकर्ता ने एल के आडवानी  पर दो थप्पड़ लगाये थे जब वो ढाँचा तोड़ने से रुकवा रहा था.... अंजू गुप्ता रिजवी तत्कालीन प्रशासनिक आई पी एस अधिकारी एल के अडवानी को बचा कर ले गयी जो अपने धर्म और खानदान की नहीं  हुई वह  रण्डी बाद में २००३ में राय बरेली सीबीआई कोर्ट  में कह रही थी ...ढाँचा अडवानी ने गिरवाया ...मैंने उस अंजू गुप्ता रिजवी रण्डी को प्रेस कांफेरेंस करके अयोध्या में उसकी औकात बताई तो प्रशासनिक अधिकारिओं को मिर्ची लग गयी I इसलिए मीडिया और सरकार ने मामला दबा दिया| 406/2003 यह मुक़द्दमा अब भी मेरे ऊपर रोहिणी कोर्ट में चल रहा है I

 भारत की  स्वतंत्रता और हिंदुओं कि हत्या रोकने के लिये और संपूर्ण मानवता की रक्षा के लिये मैंने आर्यावर्त सरकार का गठन किया है मैंने संयुक्तराष्ट्र संघ मानवाधिकार आयोग , अन्तर्राष्ट्रीय न्यायलय अनेक राज्यपालों, अनेक देशों के प्रमुख राजनेताओं को हजारो ईमेल और लगभग १७००० पत्र लिखे हैं I आज भी भारत, इंग्लैंड की महारानी का उपनिवेश है I राज्यपाल और  राजनेता  इंग्लैंड के गुलाम हैं I क्रान्तिकारियो  के भय से मजबूरी से भारत छोड़ कर गये अंग्रेजो ने १९४७ के बाद भारत को  बड़ी तेजी से गुलाम बनाया और लूटा ,पहले एक कंपनी लूट रही थी अब हजारो कंपनियां पैसा लूट कर विदेश ले जा रही हैं I धर्म की बात करने वालो को जेल में डाल दिया जाता है I नक्सलवादी, माओवादी आतंकवादिओं के अड्डे ईसाई चर्च के एजेंट मीडिया नेता शासन पर कब्ज़ा जमा कर हिंदू धर्मं को समाप्त कर रहे हैं, हिंदू संतो को जेल में डाल रहे हैं उनकी हत्याएं कर रहे हैं  I आये दिन पुलिस जवानों और सैनिकों की  हत्याएं हो रही हैं कोई इन ईसाई चर्चों कि जांच करने की हिम्मत नहीं कर रहा है I संविधान  अंग्रेजो  के द्वारा  निर्मित है  ,और  भारत  पर थोपा  गया हैं  सत्य  बोलने  वालो  को जेल  में डाल दिया  जाता है आर्यव्रत सरकार  ने मुजहना  समाचार पत्र में 

 इस्लाम और ईसाइयत को कुरान और बाइबल को अपराध संहिता और अल्लाह और यीशु मसीह को कायर, गांडू , धूर्त , डाकू, शैतान ,व्यभिचारी, बलात्कारी, हत्यारा, लूटेरा , अपराधी   घोषित किया है I इन  सभी  मुद्दों  पर न्यायालय में मुझे जीत  मिली  है I  भारत सरकार ने मुझ पर ४८ मुक़द्दमे चलाये मुझे ५ बार जेल में तब तक पीटा गया जब तक मुझे होश था I मैंने कई पुलिस अधिकारी सस्पेंड करवाए I मेरा एक मुक़द्दमा जो की मेरी जिंदगी का मकसद भी है आज भी चल रहा है जैसा की मैंने कसम खाई है कि धरती पर एक भी मुसलमान और मस्जिद नहीं रहने दूँगा ....अज़ान नहीं होने दूँगा मुक़द्दमा अज़ान एफ आई आर  नंबर ११०/२००१ थाना नरेला I कुरान और बाइबल पर मैंने ४८ मुकद्दमें जीत लिए हैं I  इन मुक़द्दमो में विपक्षी धर्मविमुख  पंथ गुरुओ  ने अदालत  में कान  कड़ कर माफ़ी मांगी ज्यादातर मुक़द्दमों में जजों की  तबियत खराब हो  गयी , छुट्टी पर चले गये I भारत के गृह सचिव और सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के सामने मैंने उनकी अपराध संहिता के पेज नंबर और उनकी धाराओं में अपराधियो  के  सर्वशक्तिमान  ईष्ट को  गांडू  सिद्ध किया I मुझे सर्वोच्च न्यायलय  से  बाइज्जत बरी किया गया I भारत इंडिया सरकार , न्यायाधीश और प्रशासनिक अधिकारिओं ने हिंदुओं की औरतों , बहु बेटियों को अपराधियों के हवाले कर दिया है ये सब बलि के बकरे की  तरह लाचार हैं I ये अधिकारी अपनी औरतों की  इज्जत लुटवाने के लिये ड्यूटी नौकरी पर तत्पर हैं I सत्य बोलने वालो को जेल  में डाल देंगे I  मुझे जेल में २ बार जहर दिया गया I  ईश्वर की कृपा से मैं आज भी जीवित हूँ चमत्कार है I भाजपा ,कांग्रेस के सेकुलरवादी और धर्मनिरपेक्ष नेताओं ने मिलकर मुझे पद प्रतिष्ठा, लाल बत्ती, मुह माँगा पैसा, सुख सुविधा  देने की कोशिश की, अपना मुह बंद रखने की  शर्त पर लेकिन मैंने किसी कुत्ते की बात नहीं मानी जिसके कारण मुझे जेल में दो बार जहर  देकर मारने का प्रयास किया गया I उस जहर के कारण स्वास  की बिमारी  हो गई  मैं अब बहुत कमजोर हो गया हुँ, पिछले १५-२० वर्षों से बिस्तर से  उठ कर सिर्फ मुक़द्दमो की तारीख पर जाता हूँ, एक दो मुक़द्दमे चल रहे हैं जजों की तबियत ठीक रहे तो जल्दी वह भी जीत लूँगा I 

एक भी ईसाई या मुसलमान के रहते कोई  स्त्री सुरक्षित नहीं है  और किसी पुरुष की स्वतंत्रता सुरक्षित नहीं रह सकती I बाइबल के अनुसार एकमात्र यीशु मसीह की ही पूजा हो सकती है वही एकमात्र राजा है जो उसे राजा नहीं माने उसे क़त्ल कर दिया जाए ! कुरान और बाइबिल के अनुसार यीशु मसीह या अल्लाह  दोनों में से सर्वशक्तिमान कौन है इसके लिये मारकाट मची हुई है क्योंकि एक शब्द भी सुधार करने वालो को कट्टरपंथी जीवित नहीं छोड़ेंगे I यही यीशु और अल्लाह का आदेश है ! कुरान के अनुसार गैर मुसलमान को जीवित् रहने का कोई अधिकार नहीं हैI बाइबल के अनुसार किसी गैर ईसाई को जीने का अधिकार नहीं है I हिन्दूओ को समाप्त करने के लिये उन्हें सुलाया जा रहा है उन्हें गीत सिखाया जा रही है,,, मज़हब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना,, धर्म निरपेक्षता का पाठ पढाया जा रहा है सर्वधर्मसमभाव की शिक्षा दी जा रही है ! बाबा साहेब अम्बेडकर के बाद संविधान का सबसे बड़ा विरोधी मैं हूँ I संविधान की धारा २९(१) के रहते धरती पर किसी स्त्री का सतीत्व सुरक्षित नहीं रह सकता मानवता और धर्म सुरक्षित नहीं रह सकता I आज भी भारत में ईसाई  पंथगुरुओ को संत की उपाधि दी जा रही है I वैदिक हिंदू धर्म के रक्षक संतो को बदनाम करके जेल में  डाला जा रहा है I

अहेमद पटेल, सोनिया गांधी की  केंद्र सरकार और नरेन्द्र मोदी के मुख्यमंत्री रहते संत आशाराम बापू अहमदाबाद आश्रम पर पुलिस द्वारा बर्बर कार्यवाही के बाद भी हिंदू संत सो रहे हैं और स्वार्थसिद्धि में लगे हुए हैं I जिहादी इस्लामी आतंकवाद ने अक्षरधाम पर हमला किया था यही धमकी संत आसाराम जी बापू आश्रम अहमदाबाद को भी मिली थी I संत आशाराम बापू आश्रम  से प्रकाशित धार्मिक पुस्तकों से कांग्रेस सरकार सोनिया गांधी और अहमद पटेल को आपत्ति थी उन्होंने संत आसाराम  बापू को धमकाया  वे नहीं माने और ईसाई धर्मान्तरण के विरूद्ध लिखते रहे I

अंग्रेजो ने बड़ी चतुराई से मुसलमानों के द्वारा हिंदू धर्म, हिंदू जनता को समाप्त किया है और करवा रहे है ! ईसाई ताक़तो ने राजनीतिक अल्पसंख्यक वोट बैंक बना कर सेकुलर वाद और धर्मनिरपेक्षता के नाम पर हिंदुओं को समाप्त करने का षडयत्र किया है....अमेरिका पकिस्तान को हथियार और आर्थिक सहायता देकर आतंकवाद को बढावा देने की दोगली नीति पर कायम है, पहले  ओबामा  थे  और अब ट्रम्प हैं  Iबाला साहेब ठाकरे ने कहा था अल्पसंख्यक आयोग मंत्रालय सच्चर कमेटी हिंदुओं पर डाला गया अणु बम हैI मैं कहता रहा हूँ राष्ट्रीय  सत्यानाशी संगठन , विश्व हिजड़ा परिषद् और बॉलीवुड जोकर पार्टी  मिल कर हिंदुओं को गुमराह करके गुलाम बना रहे हैं I 

आरएसएस रोजा इफ्तार पार्टी दे रहा है, भाजपा अल्पसंख्यक आयोग और मंत्रालय को बढावा दे रही है, गृह मंत्री राजनाथ सिंह का कहना है कि वह लव जिहाद से अनभिज्ञ हैं  I लाखो हिंदू लड़कियों को लव जिहाद का शिकार बनाया जा रहा है | मिडिया ईसाई ताकतों के द्वारा संचालित है|आर एस एस ,भाजपा ,और विश्व हिंदू परिषद् ने हिंदू जनता का खून पीने के लिये उनका शोषण करने के लिये ईसाइयों को भारत में रोक रखा है | 

संत आशाराम बापू ईसाई धर्मान्तरण के रास्ते में सबसे बड़ा अवरोध बन कर खड़े है जेल में जाने के तीन वर्ष छह माह बाद भी उनके करोडों शिष्य वैदिक हिंदू धर्म का प्रचार कर रहे है I पिछले ६ -७ वर्षों से मैं ऋषिकेश में बिस्तर पर पड़ा हू आज भी मेल द्वारा मुजहना अखबार भेज रहा हू | संत आशाराम बापू से मेरी मुलाकात नहीं हो पाई मेरी आर्यावर्त सरकार भारत को स्वतंत्र करा सकती है I वैदिक धर्म के गुरुकुल ही भारत और मानवता को बचाने का उपाय है |

संत आशारामजी आश्रम से प्रकाशित ब्रह्मचर्य महिमा पुस्तक से भारत की पीढ़ी राम और श्री कृष्ण के धर्म का पालन करेगी अमेरिका और इंग्लैंड ईसाई ताकतों कि गुलामी नहीं करेगी इसलिए संत आशारामजी बापू को बदनाम किया जा रहा है I धर्म निरपेक्ष शक्तियों के एजेंट भाजपा ,आर एस एस ,विश्व हिंदू परिषद् रामदेव बाबा ,श्री श्री रविशंकर जैसे लोगो को बढ़ावा दे रहे है जो धर्मान्तरण के विरूद्ध कुछ कर नहीं सकते ताकि ईश्वरआत्मसाक्षात्कार ,आत्मज्ञान के नाम पर देशभक्त जनता को गुमराह किया जा सके | इस्लाम की तलवार दिखाई देती है ईसाइयत कि तलवार दिखाई नहीं देती ये देश का तख्ता पलट कर गृह युद्ध में आपस में ही लाखो जनता को मरवा देते है |


आत्मरक्षा अपराध कैसे?

अमेरिकी स्वतंत्रता के घोषणापत्र के लेखक जेफरसन का सिद्धांत है, “"हम इन सिद्धांतों को स्वयंसिद्ध मानते हैं कि सभी मनुष्य समान पैदा हुए हैं और उन्हें अपने स्रष्टा द्वारा कुछ अविच्छिन्न अधिकार मिले हैं। जीवनस्वतंत्रता और सुख की खोज इन्हीं अधिकारों में है। इन अधिकारों की प्राप्ति के लिए समाज में सरकारों की स्थापना हुई जिन्होंने अपनी न्यायोचित सत्ता शासित की स्वीकृति से ग्रहण की। जब कभी कोई सरकार इन उद्देश्यों पर कुठाराघात करती है तो जनता को यह अधिकार है कि वह उसे बदल दे या उसे समाप्त कर नई सरकार स्थापित करे जो ऐसे सिद्धांतों पर आधारित हो और जिसकी शक्ति का संगठन इस प्रकार किया जाए कि जनता को विश्वास हो जाए कि उनकी सुरक्षा और सुख निश्चित हैं।"

एलिजाबेथ के उपनिवेश में पैगम्बरों के आदेश और अब्रह्मी संस्कृतियों के विश्वास के अनुसार दास विश्वासियों द्वारा अविश्वासियों को कत्ल कर देना ही अविश्वासियों पर दया करना और स्वर्गजहाँ विलासिता की सभी वस्तुएं प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैंप्राप्ति का पक्का उपाय है| यानी काफिरों को कत्ल होना है|

किसी भी हरे भरे वृक्ष को नष्ट करने के लिए एक गिद्ध का निवास ही पर्याप्त हैइसी प्रकार किसी भी संस्कृति को मिटाने के लिए एक मुसलमान या ईसाई का निवास पर्याप्त हैअकेला कोलम्बस अमेरिका के लाल भारतीयों और उनकी माया संस्कृति को निगल गयाअकेला मैकाले संस्कृत भाषा और गुरुकुलों को निगल गयाअकेला मुहम्मद अपने आश्रय दाता यहूदियों के तीन प्रजातियों बनू कैनुकाबनू नजीर और बनू कुरेज़ा को निगल गया|

वेदों के अनुसार प्रत्येक मनुष्य ब्रह्म है| उसको जन्म के साथ ही प्राप्त, वीर्य का सूक्ष्म अंश ब्रह्म सर्वशक्तिमानसर्वज्ञसर्व-व्याप्तवह शक्ति है जिससे सब कुछयहाँ तक कि ईश्वर भी उत्पन्न होते हैं। इसका जितना अधिक संचय होगा – मनुष्य उतना ही अधिक शक्तिशाली होगा| वीर्य अष्ट सिद्धियोंऔर नौ निधियों का दाता, स्वतंत्रता, परमानंद, आरोग्यओज, तेज और स्मृति का जनक है| जो कोई वीर्यक्षरण करता या कराता है, स्वयं का ही नहीं - मानवजाति का भयानक शत्रु है|

अब्रह्मी संस्कृतियां अपने अनुयायियों सहित मानवमात्र को वीर्यहीन करके, किसान द्वारा सांड़ को दास बनाने के लिए वीर्यहीन करने की भांति, दास बना चुकी हैं|

http://www.aryavrt.com/

काफ़िरों को यह ज्ञात होना चाहिए कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद २९(१) का संकलन कर अब्रह्मी संस्कृतियों को इंडिया में वैदिक सनातन धर्म को मिटाने व सबको अपना दास बनाने के लिए रखा गया है|

केवल उन्हें ही जीवित रहने का अधिकार हैजो ईसा का दास बने| (बाइबललूका १९:२७). कुरान के अनुसार अल्लाह व उसके साम्प्रदायिक साम्राज्य विस्तारवादी खूनी इस्लाम ने मानव जाति को दो हिस्सों मोमिन और काफ़िर में बाँट रखा हैधरती को भी दो हिस्सों दार उल हर्ब और दार उल इस्लाम में बाँट रखा है| (कुरान ८:३९) काफ़िर को कत्ल करना व दार उल हर्ब धरती को दार उल इस्लाम में बदलना मुसलमानों का मजहबी अधिकार हैएलिजाबेथ के साम्प्रदायिक साम्राज्य विस्तारवादी ईसा को अर्मगेद्दन द्वारा धरती पर केवल अपनी पूजा करानी हैहिरण्यकश्यप की दैत्य संस्कृति न बचीऔर केवल उसी की पूजा तो हो न सकीअब ईसा और ईसाइयत की बारी है| चुनाव द्वारा भी इनमें कोई परिवर्तन सम्भव नहीं| इनके विरुद्ध कोई जज सुनवाई नहीं कर सकता| (एआईआर, कलकत्ता, १९८५, प१०४). स्वतंत्रता कहाँ है?

राज्यपालों के पुलिस के संरक्षण में मस्जिदों से ईमाम दिन में पांच समय अज़ान द्वारा ईशनिंदा करते हैं और खुतबे देते हैं कि काफ़िर मुसलमानों के खुले दुष्मन हैंअविश्वासियों को कत्ल कर दोमस्जिद से दिए जाने वाले अज़ान और खुतबों के विरुद्ध काफ़िर शिकायत नहीं कर सकते और न जज सुनवाई कर सकता हैपुलिस किसी ईमाम के विरुद्ध आज तक अभियोग न चला सकी| मुसलमानों को अविश्वासियों के नारियों के लव जिहाद और बलात्कार करने का अधिकार इस्लाम (कुरान २३:६) और लोकतन्त्रीय भारतीय संविधान के अनुच्छेद २९(१) से प्राप्त हैइस असीमित मौलिकमजहबी अधिकार के संरक्षणपोषण व संवर्धन देने के लिए एलिजाबेथ के मनोनीत राष्ट्रपति व राज्यपाल, विवश हो करशपथ लेते हैं[भारतीय संविधान के अनुच्छेद ६० व १५९). अब्रह्मी संस्कृतियों के विरोधियों को दंड प्रक्रिया संहिता की धारा १९६ की संस्तुति देकर भारतीय  दंड संहिता की धाराओं १५३ व २९५ के अधीन राष्ट्रपति और राज्यपालों को दंड प्रक्रिया संहिता की धारा १९६ के अंतर्गत एकाधिकार प्राप्त हैलोकसेवक या जज भारतीय संविधानऔर कुरान के आगे विवश हैं! अतएव काफ़िर अपमानित होने को विवश हैं|

विकल्प मात्र उपनिवेश से मुक्ति के लिए युद्ध है| साध्वी प्रज्ञा ने स्वतंत्रता के उस युद्धको प्रारम्भ कर दिया हैजिसे १५ अगस्त१९४७ से छल से रोका गया है| {भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम१९४७अनुच्छेद ६ (ब)(।।) भारतीय संविधान व राष्ट्कुल की सदस्यता| वैदिक सनातन संस्कृति के बचने के हर मार्ग अवरुद्ध कर दिये गए हैं| आप को वीर्यवान बनाने के शिक्षा केन्द्र गुरुकुलों को नष्ट कर दिया गया| आप आत्मरक्षा के लिये शस्त्र भी नहीं रख सकते| यदि आप स्वयं का एवं मानव जाति का भला करना चाहते हों तो निःशुल्क गुरुकुल शिक्षा प्रणाली को पुनर्जीवित करने, प्रजा को सम्पत्ति और पूँजी रखने का अधिकार देने और वैदिक सनातन धर्म की आधार शिलाओं गायत्रीगीतागंगा और गो की रक्षा के लिए आर्यावर्त सरकार को सहयोग दीजियेहम बैल आधारित खेती और गो वंश की वृद्धि को प्रोत्साहित करेंगेहम पुनः इंडिया को सोने की चिड़िया भारत बना देंगे|

हम भारतीय संविधानकुरान व बाइबल को मानवता का शत्रु मानते हैं और मस्जिदजहां से हमारे ईश्वर की निंदा की जाती हैको नष्ट कर रहे हैं|

हम जानना चाहते हैं कि अज़ान का विरोध और मस्जिद का विष्फोट अपराध कैसे है?

अधिक जानकारी के लिए मुजहना प्रकाशन से प्रकाशित "देशद्रोही अरविन्द केजरीवाल का अमेरिकी नक्सली ईसाई आतंकवाद" और "शातिर अन्ना हजारे का ईसाई आतंकवाद" यह पुस्तके श्री चन्द्र प्रकाश कौशिक राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिल भारत हिन्दू महासभा के कार्यालय मंदिर मार्ग, नई दिल्ली ११०००१ में उपलब्ध हैं l

 आशाराम बापू के विरुद्ध गवाही देने वालो पर हमला करने वाले स्वंतंत्रता सेनानियों को मेरा कोटी कोटी नमन है ये दो क्रन्तिकारी अहमदाबाद और जोधपुर जेल में बंद है इनकी जन्म भूमि उडीसा को भी नमन है| जब संत आशाराम बापू पर आरोप लगाने वाली पीड़ित लड़की के मेडिकल रिपोर्ट में बलात्कार या छेड़खानी के निशान नहीं है, प्राथमिक विद्यालय में लड़की बालिग है तो ८० वर्ष के बुजुर्ग संत को जेल में रखना अन्याय है I भारत के इतिहास में ऐसा अन्याय पहले कभी नहीं हुआ I लड़की के परिवार को भी राजनीतिक ताकतों द्वारा दबाव में लिया जा सकता है वह मोहरा भी बन सकती है, उसके परिवार को भी जान का  खतरा हो सकता है | संत आशारामजी बापू के शुभचिन्तक न्याय के लिये धरने प्रदर्शन कर रहे है | यदि संत आशाराम जी बापू  के शुभचिन्तक संत आशाराम बापू की सुरक्षा चाहते है तो यह पत्र लाखो लोगो तक पहुचा कर राष्ट्रपति तक  पहुचाये |


अयोध्या प्रसाद त्रिपाठी (सू० स०) फोन: (+९१) ९८६८३२४०२५/९१५२५७९०४१.




Comments