Bchtkhatepr 8prtisht byaj

Bchtkhatepr 8prtisht byaj

आशीष शुक्ल posted in AKS ज्ञान की बात कुछ पता करें..........

आशीष शुक्ल    

आशीष शुक्ल     5:31pm Apr 1

="आप 8 % ब्याज लो न !...4 क्यों,"=

क्या आपको पता है कि आप इसी अकाउंट पर 8 फीसदी तक का ब्याज हासिल कर सकते हैं..जी हां, ऑटो स्वीप नाम की इस सुविधा से आप अपने सेविंग्स अकाउंट पर एफडी के बराबर ब्याज ले सकते हैं..

 

हमने ली हुई है सुविधा SBI.. उसे मोड अकाउंट.. या मोडीफाइड अकाउंट कहते हैं.. आप कहिये उन्हे जाकर.. कि आपके अकाउंट को आपने मोडीफाइड अकाउंट मे कन्वर्ट करना है.. तो वो आपसे एप्लीकेशन लेकर..उसे ऐसा कर देंगे..उसके बाद फिर हफ्ते का कोई एक दिन होगा..जिसदिन आपका पैसा -एफडी मे स्वीप होगा.. यानि यदि आपकी पहली एफडी गुरुवार को स्वीप होकर बनी.. और आप्न् शुक्रवार को या उसके बाद बुधवार तक फिर पैसा उसमे डाल दिया.. तो वो अगले गुरुवार को ही फिर से स्वीप होगी.., यानि आपके लिये वो दिन फिक्स हो जायेगा जिसदिन आपकी पहली एफडी बनी थी.. और बाद मे भी पैसा निकालना कठिन नही है.. :)

 

सेविंग्स अकाउंट पर बेहतर रिटर्न देने के लिए कई बैंकों ने अपने ग्राहकों को स्वीप-इन और टू-इन-वन की सुविधा दी हुई है.. जब आप इस सुविधा को चुनेंगे तो आपके सेविंग अकाउंट में एक एफडी जुड़ जाएगी.. ऐसे अकाउंट्स पर एफडी के बराबर रिटर्न मिलता है और सेविंग्स अकाउंट की तरह अपनी जरूरत के मुताबिक पैसे निकालने की आजादी भी आपके पास होती है.. आप जब चाहें, पैसा निकाल सकते हैं.. इसे रिवर्स ऑटो स्वीप कहते हैं.. इसमें एफडी तोड़ दी जाती है और आपका पैसा दोबारा सामान्य सेविंग्स अकाउंट में पहुंच जाता है..

 

कैसे करें

 

आपको अपने बैंक के पास एक निश्चित रकम से ऊपर की रकम को ऑटो स्वीप सुविधा से जोड़ने के लिए अप्लाई करना होगा.. इसके बाद बैंक इस रकम से ऊपर की रकम को एफडी में बदल देगा.. अगर एक साल के लिए एफडी पर ब्याज दर 8 फीसदी है, तो सेविंग्स अकाउंट में मौजूद रकम पर आपको 4 फीसदी के करीब ही ब्याज मिलेगा.. लेकिन ऑटो स्वीप होने वाली रकम पर 8 फीसदी का ब्याज मिलेगा.. मान लीजिए, आपने अपने सेविंग्स अकाउंट में एक साल के लिए एक लाख रुपये रखे.. इस पर 4 फीसदी की दर से साल भर में आपका ब्याज 4 हजार रुपये बना.. अब अगर आपने 20,000 रुपये की सीमा के बाद ऑटो स्वीप की सुविधा ली, तो 20,000 रुपये पर तो आपका ब्याज बनेगा 4 फीसदी की दर से 800 रुपये, लेकिन बचे हुए 80,000 रुपये पर आपको 8 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा.. यह ब्याज होगा 6,400 रुपये.. यानी कुल मिलाकर आपको 7,200 रुपये ब्याज मिलेगा..

 

याद रखें कि इन अकाउंट्स में आपको उसी अवधि के लिए ब्याज मिलता है, जिस दौरान पैसा अकाउंट में होता है.. मान लीजिए, आपने अपने सेविंग्स अकाउंट के लिए थ्रेशोल्ड लिमिट 10 हजार रुपये और एफडी के लिए 5 हजार रुपये सेट की हुई है.. साथ ही, अवधि छह महीने की तय की है.. फर्ज कीजिए कि आपके सेविंग्स अकाउंट में किसी वक्त 12 हजार रुपये हैं.. यह रकम आपके द्वारा तय की गई लिमिट से ज्यादा है, लेकिन इसमें आपकी कोई एफडी नहीं बनेगी, क्योंकि आपने एफडी के लिए 5 हजार रुपये तय किए हुए हैं.. इसका मतलब यह हुआ कि एफडी बनने के लिए आपके सेविंग्स अकाउंट में कम-से-कम 15 हजार रुपये होने चाहिए.. अब मान लीजिए इस अकाउंट में सैलरी के रूप में आपके 17 हजार रुपये जमा होते हैं.. अब आपके अकाउंट में हो जाएंगे 29 हजार रुपये और ऐसी स्थिति में ऑटो स्वीप फैसिलिटी लागू हो जाएगी.. ऐसी स्थिति में आपके नाम हो जाएंगी पांच-पांच हजार रुपए की तीन एफडी और सेविंग अकाउंट में जो रकम बची रहेगी, वह होगी 14 हजार रुपये (29,000-15,000=14,000)..

 

कब अपने आप टूट जाएगी एफडी ::

 

अब मान लीजिए आपने एटीएम से 3 हजार रुपये निकाल लिए.. ऐसे में आपके सेविंग्स अकाउंट में रह गए 11 हजार रुपये.. फिर आपने किसी को 1500 रुपये का चेक दे दिया, जिसे भुनाने पर सेविंग्स अकाउंट में रकम हो गई 9,500 रुपये, जो आपकी थ्रेशोल्ड लिमिट यानी 10 हजार रुपये से कम है, इसलिए बैंक आपकी एक एफडी अपने आप तोड़ लेगा.. इस तरह अब आपके सेविंग्स अकाउंट में रकम हो जाएगी 14,500 रुपये और एफडी की संख्या दो रह जाएगी..

 

अब अगर आपको कहीं से 500 रुपये का कोई चेक मिलता है, तो उसे जमा करने के बाद आपके सेविंग्स अकाउंट में रकम हो जाएगी 15,000 रुपये, यानी थ्रेशोल्ड लिमिट से 5 हजार रुपये ज्यादा.. ऐसे में फिर से आपके नाम एक एफडी बढ़ जाएगी.. अब आपकी एफडी तीन हो जाएंगी और सेविंग्स अकाउंट में रकम बचेगी 10 हजार रुपये..

 

वैसे, यहां एक बात ध्यान रखिए कि कुछ बैंक सेविंग्स अकाउंट पर भी ऊंची ब्याज दर ऑफर कर रहे हैं.. ऐसे में कोई भी सुविधा लेने से पहले अपने बैंक के पास जाकर इस सुविधा के बारे में पता करें.. बैंक अकाउंट की शर्तों को बारीकी से देखने के बाद ही कोई फैसला लें

 

Comments