Badhaai MP Dimpal

सेवा में,

श्रीमती डिम्पल यादव जी!

मैं, अयोध्या प्रसाद त्रिपाठी, सूचना सचिव, आर्यावर्त सरकार, आप यानी श्रीमती डिम्पल यादव को, ब्रिटिश उपनिवेश, इंडिया, के लोकसभा के कन्नौज क्षेत्र से निर्विरोध सांसद चुने जाने पर बधाई देता हूँ|

आशा करता हूँ कि अंग्रेजों की कांग्रेस द्वारा वैदिक सनातन धर्म को मिटाने के लिए संकलित भारतीय संविधान में आस्था व निष्ठां की निम्नलिखित शपथ लेकर, आप (डिम्पल जी), नारियों को मुक्त यौनाचार्य की सुविधा दिलाने के लिए जी जान से जुट जाएंगी|

Schedule Third; Form |||(B) of the Indian Constitution,

Form of oath or affirmation to be made by MP Shrimati Dimpal Yadav,

“I, Dimpal Yadav, having been elected a member of the Council of States (or the House of the People) do swear in the name of God / solemnly affirm that I will bear true faith and allegiance to the Constitution of India as by law established, that I will uphold the sovereignty and integrity of India and that I will faithfully discharge the duty upon which I am about to enter.”

डिम्पल जी! आप दया की पात्र हैं! आप ने जीविका, पद और प्रभुता हेतु अपनी सम्पत्ति पूँजी रखने का अधिकार स्वेच्छा से त्याग दिया है| भारतीय संविधान के अनुच्छेद ३१ ३९(). अपने जीवन का अधिकार खो दिया है| [बाइबल, लूका, १९:२७ और कुरान :१९१, भारतीय संविधान का अनुच्छेद २९() के साथ पठित|] अपनी बहन नारियां ईसाइयत और इस्लाम को सौँप दी हैं| (बाइबल, याशयाह १३:१६) और (कुरान २३:). इसके बदले में आप के पास अपने पिता श्री से (बाइबल , कोरिन्थिंस :३६) से विवाह मुलायम से (कुरान, ३३:३७-३८) से निकाह करने का अधिकार है| जहां ईसाइयत और इस्लाम को अपनी संस्कृतियों को बनाये रखने का असीमित मौलिक अधिकार है, वहीँ आप को वैदिक सनातन धर्म को बनाये रखने का कोई अधिकार नहीं है|

डिम्पल जी! आप के पास कोई विकल्प नहीं है. या तो आप ईसाइयत / इस्लाम स्वीकार करें, अथवा अपने सम्बन्धियों के आखों के सामने अपना बलात्कार कराएँ, शासकों (सोनिया) की दासता स्वीकार करें अपनी संस्कृति मिटायें अथवा जेल जाएँ| आप के अपराध परिस्थितिजन्य हैं, जिनके लिए भारतीय संविधान उत्तरदायी है| आप इसी भारतीय संविधान में आस्था व निष्ठा की शपथ लेंगी| जिसे रद्दी की टोकरी में डालना अपरिहार्य है| हम अभिनव भारत और आर्यावर्त सरकार के लोग आतताई ईसाइयत और इस्लाम को इंडिया में रखने वाले भारतीय संविधान को रद्द करने की मुहिम में लगे हैं| सोनिया के देश पर आधिपत्य को स्वीकार करते ही आप ही नहीं, सारी मानव जाति ईसा की भेंड़ हैं|

मेरे विरुद्ध अब तक ५० अभियोग चले हैं| ६ अब भी लम्बित हैं| हमने बाबरी ढांचा गिराया है| हम अजान व मस्जिद के विरोधी हैं| मैं मालेगांव बम कांड का अभियुक्त भी हूँ| आप भी इस पत्र के आधार पर आसानी से मेरे विरुद्ध अभियोग चला सकती हैं| सोनिया आप को मालामाल कर देगी|

ईसा १० करोड़ से अधिक अमेरिकी लाल भारतीयों और उनकी माया संस्कृति को निगल गया. अब ईसा की भेंड़ सोनिया काले भारतीयों और उनकी वैदिक संस्कृति को निगल रही है| सोनिया के सहयोग से अर्मगेद्दन के पश्चात ईसा जेरूसलम को अपनी अंतर्राष्ट्रीय राजधानी बनाएगा| मुलायम के प्रिय इस्लाम सहित सभी मजहबों और संस्कृतियों को निषिद्ध कर देगा| केवल ईसा और उसके चित्र की पूजा हो सकेगी| बाइबल के अनुसार ईसा यहूदियों के मंदिर में ईश्वर बन कर बैठेगा और मात्र अपनी पूजा कराएगा| हिरण्यकश्यप की दैत्य संस्कृति न बची और केवल उसी की पूजा तो हो सकी, अब ईसा की बारी है| विशेष विवरण नीचे की लिंक पर पढ़ें,

http://www.countdown.org/armageddon/antichrist.htm


Comments